एडवोकेट रवींद्र भाटी का साक्षात्कार

नमस्कार रविन्द्र जी।नोएडा व्यूज के कार्यक्रम में आपका बहुत बहुत स्वागत है।
धन्यवाद।

हमारे पाठको को अपना परिचय दीजिये प्लीज्।

जी, मैं एडवोकेट रविंदर भाटी ग्रेटर नोएडा के गांव गढ़ी शाहदरा से मैंने 2011 में जनहित कॉलेज से लॉ किया और उसी वर्ष से मैं यहाँ केम्पस में सक्रिय रूप से कार्य कर रहा हूँ।
आपको उपाध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने की प्रेरणा किन लोगों से मिली।

बड़े, बुजुर्गों का आशीर्वाद, बड़े भाई मोहित शर्मा व सुमित शर्मा का उत्साह वर्धन, अनेको भाइयो का आश्वासन, केम्पस के ज्यादातर लोगों ने सहयोग दिया, तो मैंने इस चुनौती को स्वीकार किया और चुनाव के रण में कूद पड़ा।

आपके हिसाब से केम्पस की मुख्य समस्याएं क्या हैं।

सर् जी समस्याओं का मत पूछो, हमारा केम्पस उत्तर प्रदेश मे सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला केम्पस है, कई सौ लोग यहां प्रतिदिन आते है, न उनके बैठने की ठीक से व्यवस्था है, और तो और एक टॉयलेट तक नही है, हमारे केम्पस में। मैं जीता तो चाहे अपने पैसे से बनवाना पड़े पर माता बहनो की प्रतिष्ठा को ध्यान में रखते हुए, सबसे पहले कैंपस में शौचालय का निर्माण करवाऊंगा।
और क्या समस्याएं है।

चैम्बर, पूल, मान सम्मान की समस्याओं का भी निदान जरूरी है।
यदि आप जीतते है, तो इन समस्याओं का निदान कैसे निकालेंगे।

अधिकारियों से बात करूंगा, एप्पलीकेशन डालूंगा, सबको एकजुट करूँगा, जरूरत पड़ी तो धरना प्रदर्शन करूँगा ,कोई भी तरीका अपनाऊंगा,पर अपना पूरा जोर लगा दूंगा,समस्याओं के निराकरण के लिए।

अपने विपक्षी प्रत्याशी के बारे में आपकी क्या राय है और अपनी जीत के प्रति आप कितने आश्वस्त है।

मेरे सामने एडवोकेट असित शर्मा चुनाव में है, पिछली बार केम्पस उन्हें नकार चुका है, इस बार भी नकारेगा क्योंकि उन्होंने अपनी गलतियों से कुछ नही सीखा है और मैं अपनी जीत के प्रति आश्वस्त इसलिए हूँ, क्योंकि मैं 206 मतदाताओं के पास अब तक स्वयं गया हूँ, केम्पस में गया हूँ, वहां न मिले तो उनके घर गया हूँ, उनके पैर छूकर उनका आशीर्वाद लेकर लौटा हूँ, मुझे हरेक ने बहुत प्यार और आशीर्वाद दिया है, और उसी के बल पर मैं अपनी जीत का दावा कर सकता हूँ।
आपने हमसे बात की, अपने विचार रखे। आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

आपका भी धन्यवाद, सर् जी

Related posts

Leave a Comment