गौतम बुद्ध नगर की अयोध्या बन गया गांव तिलपता करणवास

गौतम बुद्ध नगर : छोटी दीपावली के अवसर पर गांव की तपस्थली झीड़ी मंदिर प्रांगण में दोपहर 1:00 से 3:00 बजे तक विशेष जड़ी बूटियों से यज्ञ किया गया,प्रदूषण के खात्मे व विश्व शांति ,मानव कल्याण रोगों के नाश के लिए लिए| इसके पश्चात शाम 6:00 बजे तपस्थली प्रांगण में स्थित तालाब को 1100 मिट्टी के दीपक से सजाया गया| दीप प्रज्वलन होते ही प्रांगण द्वापर युग गांव की भांति शोभामान हो गया| इस छटा का शब्दों से वर्णन नहीं किया जा सकता यह तो अनुभूत आंखों के प्रत्यक्ष का विषय है फिर भी वर्णन कर रहा हूं| तालाब का पानी सुनहरे प्रकाश से प्रतिबिंबित होने लगा तलाब के जलीय जीव ईश्वर का मधुर गान करने लगे. प्रदूषण मुक्त वैदिक सनातन रीति से दीपावली के पर्व का सामूहिक आयोजन किया गया बड़ा ही सुखद अनुभव रहा आज|

इस आध्यात्मिक सांस्कृतिक मनोरम दृश्य अनुष्ठान के कुछ जनपद स्तरीय संगठन भी साक्षी रहे पर्यावरण संरक्षण दल की ओर से पर्यावरणविद टीकम सिंह भाटी| भूजल सेना की ओर से पर्यावरणविद रामवीर तंवर, अमित भाटी आदि| जय हो संगठन की ओर से अधिवक्ता विशाल नागर, सोराजपुर मनमिंदर बीडीसी , खोदना खुर्द से मेहरचंद नागर | सबसे महती भूमिका निभाने वाले आदर्श समाज ग्राम विकास समिति के व कार्यक्रम के आयोजक सभी सम्मानित सदस्यगण उपस्थित रहे| जगदीश भाटी, सतीश कौशिक ,देवेंद्र भाटी, एडवोकेट अजणेश खारी, ओम प्रकाश खारी ,संजय शर्मा ,अशोक भाटी, सचिन खारी ,मोहित खारी ,कपिल अधाणा, मुकेश भाटी ,कपिल खारी, सुमित खारी ,संदीप खारी ,भूपेंद्र भाटी, अरविंद भाटी ,अशोक भाटी, रवि भाटी ,जितेंद्र कुमार, मुकेश प्रजापति आदि असंख्य युवाओं का सहयोग रहा| |साथ में गांव की ओजस्वी युवा शक्ति भी उपस्थित रहे| मंदिर प्रांगण के महंत राजेंद्र गिरी व अन्य सेवकों का भी विशेष योगदान रहा| दयालु परमात्मा की कृपा से कार्यक्रम निर्विघ्न व सफल रहा|

Related posts

Leave a Comment