दो बच्चों के कानून के लिए धनौरा से गिरिराज सिंह ने भरी हुँकार

टीकम सिंह।धनौरा(अमरोहा)

“ये लड़ाई हमारी भूख,प्यास,अस्मिता को बचाने की है क्योंकि कुछ लोगों की नजर भूख,प्यास,अस्मिता पर है,जिन्होने एक जगह हिंदुओ की 22 % की आबादी को 1% (पाकिस्तान)पर ला दिया,वहीं दूसरी जगह खुद की 8% की आबादी को 25% (भारत) में पहुँचा दिया।क्या हमारे भाई नपुंसक थे,क्या हमारी बेटी,बहू,बहन बाँझ थी।नही, वहाँ ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि उन्होने हमारे भाईयों को मार दिया और बेटी,बहू,बहनों को जबरन कब्जा करके इस्लाम कबूल करवाया।अौर भारत में धड़ाधड बच्चे पैदा करके दिन रात अपनी जनसंख्या बढा प्राकृतिक और ससकारी संसाधनो का बेजा इस्तेमाल कर रहे है।मेरी आँख मे आँसू आ गये अभी जब कुछ बहन मुझसे अभी मिली और बताया कि अमरोहा ,पाकिस्तान में तबदील हो चुका है अौर हमे अपनी आबरू बचानी भारी हो रही है” ये उदगार गिरिराज सिंह,केन्द्रीय मंत्री ,भारत सरकार ने अमरोहा के धनौरा रामलीला मैदान में जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन द्वारा आयोजित दो बच्चों का कानून बनाओ,देश बचाओ रैली में कहे।

उन्होने आगे कहा कि संसद मे प्राईवेट मेंबर बिल रखा जा चुका है . लेकिन अब आप लोग गाँव-2 मे जगह-जगह
दीवारों पर दो बच्चों के कानून की माँग लिखों,सनातन धर्म जीवित रहे की माँग लिखो ताकि हमे याद रहे कि हमे कानून बनवाना है.चीन में 1 मिनट मे 11 बच्चे,जबकि भारत में 29 बच्चें पैदा हो रहे है।अौर ये ज्यादा बच्चे किसके है,हमारे आपके नही बल्कि आप जनता है आप सब जानते है।मैं किसी का नाम लूँगा तो मीडिया बात का बतंगड बना देगी।हमे जात-पात को भूल कर हिंदू की अपनी वास्तविक पहचान में लौटना होगा तभी हम इस धरती पर हिंदू के रुप जीवित रह पायेंगे अन्यथा हम जात पात मे लडते-लडते समाप्त हो जायेंगे।

हिंदू है तो ही सर्वधर्म संभाव है।मैं सांसद,मंत्री,या भाजपा नेता के रुप में पैदा नही हुआ था ,मै हिंदू के रुप में पैदा हुआ था अौर यदि मेरा धर्म ही संकट मे आ जाये तो फिर में ऐसे सांसद,मंत्रीपद,या भाजपा नेता के पद को ठोकर मार दूँगा.आपका आन्दोलन सफल होगा अौर विश्वास दिलाता हूं कि दो बच्चों का कानून हर हाल में बनके रहेगा.

भाजपा प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय ने रैली में कहा कि नवंबर में संसद सत्र सुरू होने वाला है,संसद के पास ही सभी सांसदो का घर है,आप सौ सौ की टुकड़ी में सांसदो के घरों के सामने बैठ जाएँ अौर फिर देखिये कैसे दो बच्चों का कानून नही बनता।

वहीं जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन के प्रणेता अनिल चौधरी ने कहा कि इस रैली में मौजूद हर एक सख्स यहाँ डीजल-पेट्रोल या महँगाई के लिए नही आ है वो तो सिर्फ दो बच्चों के कानून के लिए आया है।अपने आप अपना खर्चा करके यहाँ आयें है क्योंकि हम सब जानते हैं कि यदि जल्द दो बच्चों का कानून नही बना तो देश मे जनसंख्या असन्तुलन के गृहयुद्ध शुरु हो जायेगा।

अमरोहा साँसद कँवर सिंह तँवर ने कहा कि दो बच्चों का सख्त कानून बने जिसमे तीसरे बच्चे पर वोटिंग राइट खत्म हो अौर चौथे बच्चे पर आजीवन कारावास का प्रावधान हो।

Related posts

Leave a Comment