धर्मेंद्र रावल का साक्षात्कार

नमस्कार धर्मेंद्र जी।नोएडा व्यूज के कार्यक्रम में आपका बहुत बहुत स्वागत है।
धन्यवाद।

हमारे पाठको को अपना परिचय दीजिये प्लीज्।

जी, मैं एडवोकेट धर्मेंद्र रावल, ग्रेटर नोएडा के गांव घोड़ी बछेड़ा से,,,,मैंने 2011 में इन्नोवेटिव कॉलेज से लॉ किया और उसी वर्ष से मैं यहाँ केम्पस में सक्रिय रूप से कार्य कर रहा हूँ।
आपको सचिव पद का चुनाव लड़ने की प्रेरणा किन लोगों से मिली।

बड़े, बुजुर्गों का आशीर्वाद, बड़े भाई पंकज रावल का उत्साह वर्धन, अनेको भाइयो का आश्वासन, केम्पस के ज्यादातर लोगों ने सहयोग दिया, तो मैंने इस चुनौती को स्वीकार किया।
आपके हिसाब से केम्पस की मुख्य समस्याएं क्या हैं।

देखिये, हमारे कार्यालय और प्राधिकरण कार्यालय का चोली दामन का साथ है,,तो मेरे हिसाब से मेरे हर साथी का प्राधिकरण कार्यालय में उचित सम्मान हो और कार्य निष्पादन चाहे रजिस्ट्रार कार्यालय हो और चाहे प्राधिकरण कार्यालय,,, दोनो जगह पूरी इज्जत के साथ तत्परता से हो,,,ऐसा मैं चाहता हूँ,,,और अभी तक ऐसा न होना, मेरे हिसाब से एक बहुत बड़ी समस्या है।
दूसरी बड़ी समस्या, चैम्बर्स की है। तीसरी बात,,पूल की बात हर साल चुनाव के समय उठती है,इसका भी कुछ निदान होना चाहिए।
यदि आप चुनाव जीते तो इन समस्याओं का हल कैसे निकालेंगे।

बात करने से बात बनती है। हर समस्या का समाधान, मैं सबसे बात करके, सब छोटे बड़े से राय करके,,निकालने का प्रयास

अपने विपक्षी प्रत्याशी के बारे में आपको क्या कहना है और अपनी जीत को लेकर आप कितने आशस्वस्त हैं।

मेरे सामने भाई, निक्की भाटी जी चुनाव लड़ रहे है,,,ये उनका लोकतांत्रिक अधिकार है,,चुनाव कोई भी जीते, हम दोस्त हैं और दोस्त रहेंगे, पर चुनाव में जीत मेरी होगी ऐसा मैं दावे के साथ इसलिए कह रहा हूँ कि मुझे हर वर्ग,चाहे वो ब्राह्मण हो या गुर्जर, ठाकुर हो या जाट,दलित हो या अन्य,,हर तबके के भरपूर समर्थन और आशीर्वाद, मुझे मिल रहा है।
आपने हमसे बात की, अपने विचार रखे। आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

आपका भी धन्यवाद, सर् जी

Related posts

Leave a Comment