“पसंद” संस्था ने हरियाणा के रोहतक शहर में लगायी “संस्कारशाला”

कपिल कुमार/(रोहतक,हरियाणा)
पर्यावरण संरक्षण दल -“पसंद” संस्था ने पर्यावरण,स्वास्थ्य व संस्कार संरक्षण के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए पर्यावरण प्रेमी व राजनैतिक क्रांति दल के दिल्ली प्रभारी श्री राजीव वन्देमातरम् के विशेष आग्रह पर उनके शहर रोहतक(हरियाणा) में संस्कारशाला का आयोजन किया।यह आयोजन रोहतक के प्रसिद्ध मानसरोवर पार्क में प्रातः 5 से 8 बजे के बीच हुआ।संस्कारशाला का उददेश्य लोगों को पर्यावरण,स्वास्थ्य व अपने संस्कारों के प्रति जागरुक करना था।
संस्था के सचिव गजेन्द्र सिंह के नेतृत्व में पसंद संस्था ने लोगों को पर्यावरण संरक्षण करने के लिए जागरूक किया।गजेन्द्र सिंह ने लोगों को कहा कि आप अपने बच्चों कि लिए भले ही धन-दौलत,बंगला-गाडी,नौकर-चाकर न छोडकर जायें तो चलेगा परन्तु यदि उनको शुद्ध हवा,पानी व भोजन न छोडकर गये तो वो जीवित नही रह पायेंगे अतः हम सबको मिलकर अपने बच्चों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए पर्यावरण को संरक्षित करना चाहिए जिसके लिए हमे ज्यादा से ज्यादा वृक्ष लगाने चाहिए।
संस्था के अध्यक्ष टीकम सिंह ने संस्था द्वारा विशेष रुप से पर्यावरण,स्वास्थ्य व संस्कारों को संरक्षित करने के उद्देश्य से बनाये गये अदभुत स्वास्थ्य यंत्र “पदचालित आटा चक्की” का प्रदर्शन किया।उन्होने इस चक्की को चलाने का प्रशिक्षण भी लोगों को दिया।
टीकम सिंह ने लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि जब हम अपनी निर्जीव गाडी में डीजल की जगह पेट्रोल नही डलवाते तो फिर हम अपने सजीव शरीर में बिना कुछ सोचे अनाप-शनाप कचरा क्यों डालते है? गेहूँ की बनी रोटी हमारे भोजन का मुख्य अंग है और उसके लिए आटा जितना ताजा उतना अच्छा ऐसी परम्परा हमारे देश में सदियों से रही है और उसी को ध्यान में रखकर हमारे देश की माताएँ-बहने रोज ताजा आटा हाथ चक्की द्वारा पीसती थी परन्तु आधुनिकता के चक्कर में हम अपने संस्कारों को भूल गये और महिनों पुराना पैकेट बन्द कचरा आटा खाने लगे जिससे अपच,कब्ज,रक्तचाप,हृदयाघात,मधुमेह जैसे खतरनाक रोगों ने हमारे परिवार को जकड लिया।उन्होने आगे कहा कि अब वक्त आ गया है कि हम फिर से अपने महान पूर्वजों द्वारा बनाये संस्कारों की ओर लौटें।पदचालित आटा चक्की अपने संस्कारों की ओर लौटने का एक जरिया बन रही है,जिससे आप बेहद सरलता से कसरत करते हुए आटा पीस सकते है अौर अपने स्वास्थ्य की रक्षा करते हुए अपने परिवार को भयंकर बिमारियों से बचा सकते हैं।
लोगों ने संस्था की संस्कारशाला को बेहद “पसंद” किया अौर भविष्य में पर्यावरण, स्वास्थ्य व संस्कारों को संरक्षित करने की शपथ ली।
संस्कारशाला में श्रीमति अंशु,श्री राजीव वन्देमातरम्,श्री राजेन्द्र शर्मा,श्री भावेश,श्री राजेश रंजन इत्यादि ने “पसंद” संस्था की सदस्यता स्वीकार करते हुए हरियाणा राज्य में उसके प्रचार-प्रसार का जिम्मा लिया।
इसके अलावा डॉ पुनीत,विजय गुप्ता,के सी गुप्ता,मदन लाल,डॉ सौरभ इत्यादि सैकडो गणमान्य लोगों ने संस्कारशाला में भाग लिया।

Related posts

Leave a Comment