श्रेयस तलपड़े ने ‘बॉलीवुड दोस्तों द्वारा पीठ में छुरा घोंपने’ के बारे में खुल क्र बोला।

 श्रेयस तलपड़े ने ‘बॉलीवुड दोस्तों द्वारा पीठ में छुरा घोंपने’ के बारे में खुल क्र बोला।

श्रुति नेगी :

फिल्म उद्योग में ‘नाजुक’ अहंकार के बारे में बात करते हुए, अभिनेता श्रेयस तलपड़े ने कहा है कि उन्हें अक्सर ‘उन लोगों द्वारा पीठ में छुरा घोंपा जाता है जो उन्हें लगता था कि वे उनके दोस्त हैं। श्रेयस ने एक साक्षात्कार में कहा कि कई बार कुछ अभिनेताओं ने उनके साथ काम करने से इनकार कर दिया है क्योंकि वे ‘असुरक्षित’ हैं।

विस्तार से पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “मुझे पता चला कि कुछ अभिनेता ऐसे हैं जो मेरे साथ स्क्रीन स्पेस साझा करने को लेकर असुरक्षित हैं और मुझे एक फिल्म में नहीं चाहते हैं। मैंने दोस्तों के लिए कुछ फिल्में केवल उनकी रुचियों को ध्यान में रखते हुए की हैं, लेकिन फिर मुझे उन्हीं दोस्तों ने पीठ में छुरा घोंपा है। फिर ऐसे दोस्त हैं जो मुझे शामिल किए बिना आगे बढ़ते हैं और फिल्में बनाते हैं, जो एक सवाल करता है कि क्या वे दोस्त भी हैं। दरअसल, इंडस्ट्री में 90% लोग सिर्फ होते हैं परिचितों, केवल 10% लोग हैं जो वास्तव में खुश महसूस करते हैं जब आप अच्छा करते हैं। यहाँ अहंकार बहुत नाजुक है।”

समाचार पत्र समाज और समाज के लोगों के लिए काम करता है जिनकी कोई नहीं सुनता उनकी आवाज बनता है  पत्रकारिता के इस स्वरूप को लेकर हमारी सोच के रास्ते में सिर्फ जरूरी संसाधनों की अनुपलब्धता ही बाधा है हमारे पाठकों से इतनी गुजारिश है कि हमें पढ़ें, शेयर करें और अगर मदद करना चाहते हैं तो पेटीएम करें 9810402764

Kapil Choudhary

Leave a Reply

%d bloggers like this: