बिहार और मध्यप्रदेश के अलग-अलग शहरों में मिल रही आरोपितों की लोकेशन

 बिहार और मध्यप्रदेश के अलग-अलग शहरों में मिल रही आरोपितों की लोकेशन

नोएडा। नोएडा सहित देश के कई अन्य शहरों में कैरियर जंक्शन के नाम से दफ्तर खोलकर एमबीबीएस में दाखिले के नाम पर सैकड़ों लोगों से अरबों रुपये की ठगी करने वाले गिरोह के आरोपितों के मोबाइल की लोकेशन मध्यप्रदेश और बिहार के अलग-अलग शहरों में मिली है। दोनों राज्यों में पुलिस की एक-एक टीम डेरा जमाए हुए है। अभी भी आरोपित पुलिस की पकड़ से दूर हैं।
पुलिस की जांच में सामने आया है कि गिरोह के सरगना ने जेल से छूटने के बाद अपने पुराने साथियों को एकत्र किया और फिर से छात्रों को ठगने के लिए कंपनी खोली। गिरोह का सरगना नीरज सिंह है,जो अजय अरुण के नाम से नोएडा में ठगी कर रहा था। पुलिस का मानना है कि नीरज सिंह मेडिकल कॉलेज में दाखिले के नाम पर लोगों से एक हजार करोड़ रुपये की ठगी कर अपना साम्राज्य खड़ा कर चुका है। ठगी से अर्जित संपत्ति पर भी पुलिस की नजर है।
नाम बदलकर करता है ठगी
नोएडा जेल अधीक्षक ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि नीरज सिंह बेऊर जेल से उसकी जेल में आया था यहां से फिर उसे बेऊर जेल भेज दिया गया था और 17 मई 2022 को बेऊर जेल से जमानत पर रिहा हो चुका है। माना जा रहा है कि जेल से रिहा होने के बाद ही उसने अपने पुराने साथियों को कंपनी बनाई थी। गिरोह के सरगना नीरज सिंह को बिहार में लोग हरेंद्र, उज्ज्वल और नारायण व शेखर के नाम से जानते हैं। वह हर जगह नाम बदलकर ठगी करता है।

Noida Views

Leave a Reply

%d bloggers like this: