पर्थला केबल सस्पेंशन फ्लाईओवर पर मार्च से फर्राटा भरेंगे वाहन, प्रोजेक्ट का 75 प्रतिशत काम पूरा

 पर्थला केबल सस्पेंशन फ्लाईओवर पर मार्च से फर्राटा भरेंगे वाहन, प्रोजेक्ट का 75 प्रतिशत काम पूरा

नोएडा। एनएच-9 (पूर्व में एनएच-24) वाया पर्थला नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद आने जाने वाले दो लाख वाहनों को जाम से राहत मिलने वाली है। उनके सफर के समय में 30 से 45 मिनट की बचत होगी। इसके लिए पर्थला गोल चक्कर पर नोएडा प्राधिकरण पहला केबल सस्पेंशन फ्लाईओवर बना रहा है, जिसका निर्माण मार्च में पूरा हो जाएगा। इसके बाद परियोजना जनता को समर्पित कर दी जाएगी। वर्क सर्किल छह वरिष्ठ प्रबंधक एके जैन ने बताया कि परियोजना में 75 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है।
अब अहमदाबाद से स्टील आ चुका है। जिन्हें जोड़कर गार्डन खड़ा किया जा रहा है। अलग-अलग हिस्सों में स्टील लगाए जाएगा। इसके बाद उन्हें यहां जोड़कर खड़ा किया जाएगा। 31 मार्च तक फ्लाईओवर काम पूरा कर लिया जाएगा।
पीक आवर में निकलते है 18 हजार वाहन
पर्थला गोल चक्कर पर सुबह साढ़े नौ बजे से साढ़े दस बजे तक 18 हजार वाहन निकलते हैं। जिनको समय से कार्यालय पहुंचने के लिए 30 से 45 मिनट पहले घर से निकलना पड़ता है। वजह पर्थला गोल चक्कर पर लगने वाला जाम है। भविष्य में यहां प्रतिघंटा 25 हजार वाहन निकलेंगे। इसका अनुमान लगाया गया है लेकिन ब्रिज काम पूरा होने के बाद उनके समय में बचत होगी।
15 सोसायटी के लोगों को मिलेगा फायदा
इस फ्लाईओवर के निर्माण से सेक्टर-51, 52, 61, 70, 71, 72, 73, 74, 75, 76, 77, 78, 79, 121, 122 के हजारों निवासियों को फायदा होगा। साथ ही दिल्ली से गाजियाबाद, हापुड़, ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन को जाने के लिए उक्त चौराहे पर बिना लाल बत्ती के सीधे पहुंचा जा सकेगा।

Noida Views

Leave a Reply

%d bloggers like this: