05/18/2022
English Hindi

सुबह शाम जिम जाओ प्रोटीन सप्लीमेंट खाओ संतान हीनता की सौगात मुफ्त में पाओ

आज देश के महानगरों, छोटे शहरों ,गांव ,कस्बों में आपको गली गली या मोहल्ले में जिम या हेल्थ क्लब खुले मिल जाएंगे| जहां भोले भाले विवेकहीन भारतीय युवकों को संतान हीनता की सौगात बाटी जा रही है| भारत देश में उष्णकटिबंधीय देश में जहां वैदिक दंड व्यायाम आसन प्राणायाम प्रातः भ्रमण से शरीर स्वस्थ को उत्तम , सुडोल सदाबहार मजबूत किया जा सकता है लेकिन युवक जिम जैसे दिखावटी व्यायाम प्रणाली कृत्रिम विनाशकारी साधनों से शरीर को क्षणिक आकर्षण में फंसकर कृत्रिम प्रोटीन सप्लीमेंट का सेवन कर रहे हैं| जिम प्रोटीन सप्लीमेंट के सेवन अनुचित साधनों से प्राप्त किया स्वास्थ्य (वह स्वास्थ्य नहीं है स्वास्थ्य का भ्रम है) स्थाई नहीं रहता वह कुछ समय तक ही टिक पाता है शरीर वास्तव में बहुत   भद्दा कुरूप लगता है|
आज इस महाविनाश में फंसकर कितने ही युवक हार्ट फेल किडनी से के कारण संसार से जा चुके हैं| कितने संतानहीनता से ग्रस्त हो गए हैं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हजारों ऐसे युवक है जो पुरुष संतानहीनता रोग विशेषज्ञ Reprdologist के चक्कर लगा रहे हैं | इनमें से अधिकांश लोग ऐसे हैं जिन्होंने लंबे समय तक जिम में वर्कआउट किया था तथा प्रोटीन सप्लीमेंट का बिना विचारे आंख मूंदकर सेवन किया था जिम संचालकों के बहकावे में आकर सेवन किया था || विश्व स्वास्थ्य संगठन हावर्ड मेडिकल जनरल आदि की रिपोर्ट के अनुसार सिद्ध हो चुका है  कृत्रिम प्रोटीन सप्लीमेंट के सेवन का शरीर पर बहुत घातक प्रभाव पड़ता है लेकिन भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज तक कोई एडवाइजरी जारी नहीं की है दुनिया के देश इन हेल्थ सप्लीमेंट पर प्रतिबंध लगा चुके हैं|
जिम मै क्षमता से अधिक किए गए वर्कआउट व हेल्थ सप्लीमेंट के कारण शरीर में अस्वभाविक उष्णता उत्पन्न हो जाती है| मांसपेशियों की स्वाभाविक गति प्रभावित हो जाती है |रक्त परिसंचरण कम हो जाता है जिससे लो स्पर्म काउंट की समस्या पुरुषों में हो जाती है|
हमउम्र युवकों ,तरुण किशोरों से मेरा यही भावपूर्ण अनुरोध है कि जिम व्हे प्रोटीन सप्लीमेंट के महंगे महा विनाशकारी चक्कर में ना पड़ें प्रातः दौड़ ,भ्रमण , दंड व्यायाम से शरीर को चट्टान की तरह मजबूत फौलादी बनाया जा सकता है| हमारे पूर्वजों के शारीरिक बल का दुनिया लोहा मानती थी| महावीर हनुमान ,भीम, महर्षि दयानंद सरस्वती, प्रोफेसर राममूर्ति ,गुरु हनुमान ,मास्टर चंदगीराम आदि असंख्य नाम इसमें शामिल है| इतना ही नहीं आज भी गांवों में हमारे बुजुर्ग कितने मजबूत दिखाई देते हैं इन सभी ने परमात्मा की बनाई जिम में कसरत की थी तथा परमात्मा के बनाए पोस्टिक घी, साबुत अनाज, दूध का सेवन किया था|

आर्य सागर खारी

Leave a Reply

WhatsApp chat
%d bloggers like this: