05/18/2022
English Hindi

देश का मौसम और चक्रवाती तूफान “फानी”

जैसा की आप कुछ दिन से चक्रवाती तूफान फ़ानी के बारे में सुनते आ रहे हैं। अब ये चक्रवाती तूफान फानी भयंकर तूफान बन गया है और पश्चिमी तथा उत्तर-पश्चिमी दिशा में आगे की तरफ बढ़ रहा है। तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश के तटीय भागों में समुद्र में अब हलचल बढ़ जाएगी। तूफान फ़ानी का भारत के कुछ हिस्सों पर आज यानि 30 अप्रैल से असर देखने को मिलेगा। उम्मीद है कि तमिलनाडु के तटीय भागों और केरल में कुछ स्थानों पर गर्जना के साथ बारिश होने की संभावना प्रबल है । इसी के साथ साथ बंगलुरु सहित कर्नाटक के भी कुछ शहरों में बारिश होने की भी संभावना है। दूसरी ओर तेलंगाना, तटीय आंध्र प्रदेश और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक में मौसम शुष्क और बेहद गर्म बना रहेगा।
इन्हीं भागों से सटे मध्य भारत के राज्यों में मध्यम गति से हवाएँ चलती रहेंगी। इन गर्म हवाओं और सामान्य से अधिक तापमान के कारण विदर्भ, मराठवाड़ा, मध्य प्रदेश और गुजरात में अधिकांश शहरों लू का प्रकोप रहेगा। मध्य भारत में भीषण गर्मी से राहत की फिलहाल कोई उम्मीद नहीं है।
इस बीच पूर्वोत्तर भारत में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। अगले 24 घंटों के दौरान भी बंगाल की खाड़ी से आर्द्र हवाएँ पूर्वोत्तर राज्यों में पहुँचेंगी। इससे पूर्वोत्तर भारत के राज्यों, सिक्किम और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल में बादलों की गर्जना के साथ बारिश जारी रहेगी।
लेकिन सूर्य देव को पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड के लोगों पर आज भी तरस नहीं आएगा। इन राज्यों में चिलचिलाती धूप के कारण लू का प्रकोप प्रचंड रहेगा।
पश्चिम उत्तर भारत में एक नया पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर के और करीब पहुँच गया है जिसके चलते चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र राजस्थान के उत्तर-पश्चिमी हिस्सों पर बना हुआ है। इसके प्रभाव से जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है। उत्तराखंड, उत्तरी पंजाब और हरियाणा में भी एक-दो स्थानों पर छुट-पुट बारिश होने के आसार हैं। लेकिन दिल्ली, एन सी आर क्षेत्र, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मौसम शुष्क व गर्म रहेगा जो जन जीवन के लिए बीमारी का सबब हो सकता है ।सभी इस क्षेत्र के नागरिकों से अनुरोध है की जहां तक हो सके घर पर ही आराम करें.

Leave a Reply

WhatsApp chat
%d bloggers like this: