05/20/2022
English Hindi

महाविनाश जो सूचना प्रसारण मंत्रालय को नहीं दिख रहा।

आर्य सागर खारी : 13 साल पहले सुपर पावर अमेरिका में इंटरनेट टीवी का दौर आया. नेटफ्लिक्स Amazon Prime जैसी कंपनियों ने वीडियो ऑन डिमांड सेवाएं दी. वेब सीरीज चली. बगैर सेंसरशिप के मनोरंजन का नतीजा आज पूरा अमेरिका भुगत रहा है अधिकतर समाज उच्छृंख, हिंसक हो गया है.

यह आफत कुछ वर्षों से भारत में भी आ गई है आज भारत में नेटफ्लिक्स अमेजन प्राइम हॉटस्टार जो अमेरिकी कंपनी है, दुर्भाग्य से जी मीडिया समूह की G5 कंपनी भी इसमें शामिल है और MX Player जो बगैर किसी दखल के वेब सीरीज टेलीकास्ट कर रही है। 15 दिन की अवधि तक चलने वाले 20 से 40 मिनट के अश्लील हिंसक दृश्य व संवादों से युक्त वीडियो वेब सीरीज युवकों को परोसी जा रही है।

पाताल लोक वीडियो सीरीज ऐसी ही है जिसमें हिंदू समाज को घृणित अपराधी हिंसक काम का कीड़ा घोषित कर दिया गया है. एक अलग ही जिहाद चल रहा है. एकता कपूर जैसी यौन विकृति से ग्रस्त मानसिक बीमार महिला ने तो हद ही कर दी भारत के जांबाज फौजियों को लेकर एक वेब सीरीज बनाई है कि फौजी जवान जब ड्यूटी पर चला जाता है तो उनकी पत्नियां अपने बॉयफ्रेंड के साथ अवैध संबंध बनाती है हद हो गई।

क्या यही है अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता? जहां वीर जवानों की पतिव्रता स्त्रियों भारतीय स्त्री समाज की पवित्रता पर मिथ्या लांछन लगाकर वेब सीरीज के सफल होने पर अनुष्का शर्मा, एकता कपूर जैसी, पेज 3 पार्टी कर रही है।

ऐसे सैकड़ों अश्लील स्वदेश विनाशक घातक वीडियो कंटेंट वेब सीरीज के माध्यम से देश के वर्तमान व भविष्य युवा वर्ग को परोसे जा चुके हैं। सूचना व प्रसारण मंत्रालय एकदम अपाहिज हो गया है कोई नीति नहीं बन पाई है इंटरनेट टीवी वीडियो ऑन डिमांड को लेकर परंपरागत टेलीविजन टेलीकास्ट की तरह इस पर किसी भी प्रकार की कोई निगरानी नहीं है। वेब सीरीज की कंटेंट ऐसे होते हैं कि शर्म को भी शर्म आ जाए |

Leave a Reply

%d bloggers like this: