प्री-प्राइमरी स्कूलों को अनिवार्य सरकारी मान्यता प्राप्त करने की है आवश्यकता।

 प्री-प्राइमरी स्कूलों को अनिवार्य सरकारी मान्यता प्राप्त करने की है आवश्यकता।

यूपी | शालू शर्मा :
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि राज्य भर में चल रहे सभी पूर्व प्राथमिक स्कूलों को अपने कामकाज के लिए उत्तर प्रदेश सरकार से अनिवार्य रूप से मान्यता प्राप्त करनी होगी। अब तक, उत्तर प्रदेश में किसी भी पूर्व-प्राथमिक या प्ले स्कूल को चलाने के लिए इस तरह की मान्यता की आवश्यकता नहीं थी। मुख्यमंत्री के आदेश पर कार्रवाई करते हुए, बेसिक शिक्षा विभाग अब सभी पूर्व-प्राथमिक स्कूलों के लिए दिशानिर्देशों की एक सूची तैयार कर रहा है। सरकार ऐसे प्ले या प्री-प्राइमरी स्कूलों द्वारा ली जाने वाली फीस पर नजर रखेगी।

इसके अलावा, आंगनवाड़ी केंद्रों को प्ले या प्री-प्राइमरी स्कूलों की तरह विकसित किया जाएगा। लखनऊ में 2,000 से अधिक प्ले या प्री-प्राइमरी स्कूल संचालित किए जा रहे हैं। कई स्थानीय लोगों ने अपने घरों में प्ले स्कूल खोले हैं और माता-पिता से मोटी फीस लेते हैं। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के दिशानिर्देशों के तहत, सरकार प्ले या प्री-प्राइमरी स्कूलों की मान्यता को अनिवार्य करने जा रही है। इसके तहत बच्चों की सुरक्षा के लिए स्कूलों की जवाबदेही भी तय की जाएगी।

Kapil Choudhary

Leave a Reply

%d bloggers like this: