Breaking News
Home / जन-समस्या / नारी सशक्तिकरण- गायत्री मंत्र की उपासना से – जब घर बन गये देवालय।

नारी सशक्तिकरण- गायत्री मंत्र की उपासना से – जब घर बन गये देवालय।

ग्रेटर नॉएडा (कपिल कुमार) : विगत वर्ष से कोरोना महामारी का आगमन दुनिया भर के देशों में फैला जिससे करोड़ों जाने गई हैं। हमारे देश में भी यह बीमारी पैर पसार गई। वातावरण बोझिल और एक अलग तरह का सूनापन चारों और छाय गया। भारत सरकार ने अनेकों प्रकार के उपाय लोगों की सुरक्षा के लिए किये ।
जिसका लाभ भी देश को मिला। ऐसे ही अवसर पर सूक्ष्म जगत में दैवी शक्तियों के अवतरण एवं आध्यात्मिक प्रयोग के माध्यम से महिला मंडल ग्रेटर नोएडा की संचालिका श्री मती ऊषा राणा चौधरी ने अपनी सहयोगी मंडलों की बहनों के साथ मिलकर सामूहिक गायत्री महा मंत्र जप प्रति माह 24 लाख एक निश्चित समय पर अपने ही घर में शुरू करवाये। इस जप साधना में सैंकड़ों परिवार जुड़े और आत्म कल्याण के साथ विश्व कल्याण की भावना को लेकर कोरोना मुक्त देश के लिए पूरे 11 महीने साधना से परिवारों को जोड़कर समय का सदुपयोग और नकारात्मक प्रभाव को रोकने के लिए हर दिन किसी लक्ष्य भेदी तीर की तरह सुरक्षा कवच गायत्री परिवारों में बनाया गया ।
लाभ बहुत ही सराहनीय रहा ।
हर परिवार में महिलाओं द्वारा आयोजित यह समूह साधना पारिवारिक जनों में संतुष्टि के साथ सहज ही समय जोकि बहुत कठिन था निकल गया ।
मंदिरों में प्राण प्रतिष्ठा जैसे मंत्रों से होती है वैसे ही महा मंत्र गायत्री परिवारों की सुरक्षा कवच बना। हर गृहणी के पास काम बढ़ा हुआ रहा इस बीच लेकिन मज़बूती के साथ इस साधना ने आत्मिक बल दिया ।
आज भारत से बनी वैक्सीन उपलब्ध हो चुकी है ।
गौतम बुद्ध नगर में यह प्रयोग विश्वसनीय रहा यहाँ का मृत्यु दर सरकारी आँकड़ों के अनुसार सबसे कम रहा। सर्वश्रेष्ठ और अनूठी प्रकार की यह मंत्र जप साधना वातावरण परिशोधन हेतु की गई थी जिसका लाभ गौतम बुद्ध नगर को सहज ही मिला। 2 करोड़ 86 लाख गायत्री महा जप की पूर्णाहुति 7 मार्च को शांति कुंज प्रतिनिधि यो के द्वारा सफलतापूर्वक संपन्न हुई।
सैंकड़ों की संख्या में साधकों ने यज्ञ मेमहा मारी कोरोना मुक्त भारत के लिए भाव अर्पित कर आहुति यां दी। प्रशासन से अनुमति मिलने पर यज्ञ की व्यवस्था वैभव लक्ष्मी मंदिर यज्ञ शाला पर यज्ञ नौ कुंडों पर संपन्न हुआ ।
शक्ति कलश के माध्यम से-यह पूर्णाहुति एक मिसाल छोड़ गई कि दैवी शक्ति एवं आध्यात्मिक प्रयोग के साथ सही समय पर , सही तरीक़े से संकल्पित मन जब तैयार होते हैं तो कुछ भी असंभव नहीं। भारत के वैज्ञानिक सलाहकार एवं भारत सरकार भी इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है कि हम हर प्रकार की परिस्थिति से निपटने के लिए मन से मज़बूत इरादों के साथ रहे हैं । गौतम बुद्ध नगर में सक्रिय महिला मंडल नारी सशक्तिकरण की एक कड़ी बना ।
जहां घर घर यज्ञ हो रहे हैं महिलाओं के द्वारा ।एक कलश जिस को केंद्र बनाकर ७ करोड़ गायत्री मंत्रों से अभिमन्त्रित घर घर बना रहा हैं देवालय ।मंत्रों की शक्ति का उपयोग कर वातावरण को शुद्ध करने की प्रक्रिया निरंतर परिवारों में महिलाओं द्वारा जारी है । यह सराहनीय कार्य गौतम बुद्ध नगर में पिछले कई वर्षों से चल रहा है ।और हो रहा है कोरोना मुक्त भारत।

Check Also

करवाचौथ मनाना है, ट्रैफिक नियम को अपनाना है

नोएडा( कपिल कुमार)जहा एक तरफ भारतवर्ष में दुर्घटना रुकती नही, वही दूसरी तरफ लोग यातायात …

Leave a Reply

%d bloggers like this: