Breaking News
Home / ताज़ा खबरें / जो किसी को अछूत मानता है, वह हिन्दू कहलाने के लायक नहीं – विश्व हिन्दू परिषद

जो किसी को अछूत मानता है, वह हिन्दू कहलाने के लायक नहीं – विश्व हिन्दू परिषद

विश्व हिन्दू परिषद हिन्दू समाज का सुरक्षा कवच है।

ग्रेटर नॉएडा(कपिल कुमार) : 5 सितम्बर को विश्व हिंदू परिषद के 57 वें स्थापना दिवस व श्री कृष्ण जन्माष्टमी उत्सव भाऊराव देवरस सरस्वती विद्या मंदिर सेक्टर 12 नोएडा में सम्पन्न हुआ।

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डा सुरेन्द्र जैन ने कहा कि आज सोया राष्ट्र जाग चुका है, हमारा राम मंदिर ही नहीं, राष्ट्र मंदिर भी बनने जा रहा है. दिसंबर 2023 तक रामलला अपने गर्भ गृह पर स्थापित मंदिर में विराजमान हो जाएंगे. राममंदिर आंदोलन 500 वर्षों से चल रहा है. 37 वर्षों का जन जागरण अभियान विश्व हिंदू परिषद ने चलाया, जिसके परिणामस्वरूप आज देश का हिन्दू जागृत हो गया है।

लोग पूछते हैं कि राममंदिर के बाद काशी मथुरा का क्या होगा. हम कहते हैं कि राम मंदिर का निर्माण कब होगा यह भगवान राम ने तय किया था. जिस दिन भगवान कृष्ण, बाबा विश्वनाथ तय करेंगे, उस दिन दुनिया की कोई ताकत काशी और मथुरा में भव्य मंदिर निर्माण रोक नहीं सकती।

रामराज्य का अर्थ किसी धर्म विशेष का राज्य नहीं, रामराज्य का अर्थ यह भी नहीं कि धर्म विशेष के लोगों को बाहर भेज देना. रामराज्य का अर्थ है लव जिहाद, गौ हत्या, तालिबान की प्रशंसा, बागपत में जैन शिकंजी के नाम से छल करना, हिंदू के नाम पर हाईवे पर ढाबा खोलना और मेरठ में थूक लगाकर रोटी बनाना बंद करना होगा।

संतो के सम्मान की रक्षा करना, गौ रक्षा करना, हिंदू में अस्पृश्यता दूर कर सामाजिक समरसता लाना, धर्मांतरण को रोकना विश्व हिन्दू परिषद का कार्य हे।

पश्चिम बंगाल में ममता सरकार ने जब हिन्दुओं पर अत्याचार किया तो सबने पूछा विश्व हिन्दू परिषद बजरंग दल कहाँ है. विश्व हिंदू परिषद वहाँ हिन्दुओं के साथ खड़ा हुआ. आज विश्व हिन्दू परिषद हिंदू समाज का सुरक्षा कवच बन गया है।

विश्व हिन्दू परिषद की स्थापना के पश्चात, 1966 में प्रयागराज में सभी संत एक मंच पर आये, पूरी दुनिया को पता चल गया कि अब हिंदू संगठित होंगे, क्योंकि सबको पता है कि हिन्दू समाज संतो के मार्गदर्शन में चलता है।

राम राज्य में निषाद राज को मुख्य अतिथि बनाते हैं किसी हिन्दू की उपेक्षा से रामराज्य नहीं आ सकता. छुआछूत का समर्थन हिंदू समाज नहीं करता है. सभी संतो ने उडुपी के मंच पर कह दिया हिंदू हिंदू भाई भाई हैं, कोई हिन्दू पतित नहीं है. चींटी, कौआ, कुत्ते आदि के लिए ग्रास निकालने की व्यवस्था करने वाला हिंदू कैसे अपने भाई को अछूत मानेगा. जो छुआछूत करता है, वह हिन्दू कहलाने लायक नहीं है. हिन्दू तो आत्मवत सर्वभूतेषु की भावना लेकर चलता है।

नोएडा उत्तर प्रदेश का प्रवेश द्वार है, जिस प्रवेश द्वार के प्रहरी मजबूत है, उसे कोई छू नहीं सकता. हम लोग प्रण करें कि अपने जिले महानगर को आदर्श जिला बनाएंगे, हमारा जिला छुआछूत से मुक्त होगा. भारत में यदि रामराज्य लाना है तो समरसता लानी ही पड़ेगी और इसकी शुरुआत अपने जिले से करनी होगी।

कुछ ही दिनों में पूरा भारत भगवा रंग में रंगने वाला है. पश्चिम उत्तर प्रदेश से भगवा क्रांति का आगाज हो गया है, पश्चिम उत्तर प्रदेश बदलेगा तो भारत बदलेगा।

कार्यक्रम में बोलते हुये जिलाध्यक्ष लालमणि पाण्डेय ने नोएडा महानगर को आदर्श बनाने का संकल्प लिया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि उद्योगपति नरेश गर्ग, कार्यक्रम अध्यक्ष टायर शापी के श्री सुनील जैन सहित प्रान्त, विभाग एवं नोएडा महानगर के विहिप कार्यकर्ताओं सहित 1400 से अधिक हिन्दू जन सम्मिलित रहे।

Check Also

नारी प्रगति सोशल फाउंडेशन ने 70 महिलाओं के खाते खुलवाएं।

नॉएडा (कपिल कुमार) : “नई डगर नया सफर” कार्यक्रम के तहत नारी प्रगति सोशल फाउंडेशन …

Leave a Reply

%d bloggers like this: